https://www.purvanchalrajya.com/

ठूठीबारी में ग्राम सभा की जमीन पर भू माफियाओं ने जमाया कब्ज़ा

धरमौली में पोखरे की जमीन को फर्जी दस्तावेजो के सहारे बेचने का आरोप 


पूर्वांचल राज्य ब्यूरो, महराजगंज (उप संपादक अरुण वर्मा)

ठूठीबारी/महराजगंज। माननीय सर्वोच्च न्यायालय व उत्तर प्रदेश सरकार के सख्त दिशा निर्देशन के बावजूद जनपद महराजगंज के सीमाई क़स्बा ठूठीबारी के टोला धरमौली में ग्राम सभा की सरकारी जमीन (गड्ढा/पोखरी) पर भू माफियाओ की नज़र टेढ़ी हो है। हैरानी तो इस बात की है कि जिस व्यक्ति द्वारा विगत कई वर्षो से ग्राम सभा की जमीन पर अवैध कब्ज़ा जमाया गया था उसने उसी गाँव के दूसरे व्यक्ति को फर्जी दस्तावेजो के सहारे लाखों रूपये में सरकारी जमीन को बेच दिया जिसपर निर्माण कार्य चल रहा है। 

    मामला है महराजगंज जनपद के भारत नेपाल की सीमा पर बसा निचलौल ब्लाक का सबसे बड़ा ग्राम सभा ठूठीबारी का जिसके एक टोले धरमौली में ग्राम सभा की करीब 25 डिस्मिल जमींन है। जहां एक बड़ा पीपल का पेड़ व सार्वजनिक बेहद पुराना कुआं भी स्थित है। जहां पूरे गांव के लोग मांगलिक कार्यक्रमों को करते चले आ रहे है वही गांव की महिलाएं शादी विवाह व अन्य उत्सव महोत्सव को किया करती है। हैरानी इस बात की है कि करीब 25 डिस्मिल ग्राम सभा की जमीन को अतिक्रमणकारियों के द्वारा कब्ज़ा कर कई पक्के मकान तक बनवा लिए गए है। राजस्व विभक की अनदेखी कहे या मैनेज का खेल सब कुछ संज्ञान में होने के बावजूद गंभीरता से उस पर अब तक कार्यवाही नहीं की जा सकी है। जिससें आम जनता में आक्रोश व्याप्त है। जब इस बावत हल्का लेखपाल दीपक पाण्डेय से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मामला संज्ञान में है मौका मुआयना कर सम्बंधित को निर्माण कार्य रोकने के लिए कह दिया गया है। उक्त सरकारी जमीन (पोखरी/गड्ढा) पर जितने लोगों ने निर्माण कार्य कराया है या करा रहे है। उनके खिलाफ राजस्व विभाग के द्वारा राजश्व क्षति संम्पत्ति निवारण के तहत मुकदमा पंजीकृत कराते हुए उनसे जुर्माना वसूली की कार्यवाही की ।जाएगी जबकि ग्राम प्रधान अजय कुमार(अजित कुमार) ने बताया कि मेरे संज्ञान में मामला शनिवार की रात को आया है मामला गंभीर है। निचलौल तहसील प्रशासन से शिकायत कर दी गई है आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Post a Comment

0 Comments