https://www.purvanchalrajya.com/

आग की घटनाओं से किसानों में चिंता, पछुआ हवा की तेज रफ्तार से खेतों में लग रही आग

किसान एक एक पाई जमा कर फसल तैयार करता है तथा एक पल में ही फसल जलकर राख हो जाती है



पूर्वांचल राज्य ब्यूरो, बलिया 

बांसडीह/बलिया। स्थानीय तहसील क्षेत्र में विद्युत चिंगारी के साथ ही अन्य कारणों से आग लगने से किसानों की फसलें खेत में ही जलकर राख हो जा रही है। किसानों ने लगातार हो रही घटनाओं की रोकथाम के लिए प्रशासन से उपाय करने की मांग किया है। सोमवार को केवरा गांव में आठ बीघा गेहूं की खड़ी फसल खेत में ही जलकर राख हो गई। इसमें बिजली विभाग की लापरवाही सामने आ रही है। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि विद्युत ट्रांसफार्मर को जाने वाले बिजली के तार के आपस में टकराने के कारण निकली चिंगारी से आग लगी थी।  विभाग जर्जर नंगे तारो को टाइट नही रखा था जिससे तार आपस में टकरा जाते हैं। ऐसी कई घटनाएं देवडीह, राजपुर व मैरीटार गांव में हुआ है।  केवरा गांव निवासी किसान श्री प्रकाश मिश्र ने इलाके में खेतों से गुजरने वाले बिजली के जर्जर तारों को बदलकर केबिल के तार लगाने की मांग किया। बकंवा गांव के किसान अरूण सिंह ने कहा कि किसान एक एक पाई जमा कर फसल तैयार करता है तथा एक पल में ही फसल जलकर राख हो जाती है। देवडीह गांव के किसान अंजनी सिंह ने खेतों से गुजरने वाले बिजली के तारों से फसलों की रक्षा के लिए प्लान बनाकर उसे ठीक रखनें की मांग किया। कई किसानों ने लोगों से भी गेहूं की फसल पकने के समय खेतों के आसपास आग न जलाने तथा खेतों की निगरानी करने की भी अपील किया। पछुआ हवा की तेज रफ्तार से पलक झपकते ही खेतों में आग तांडव मचा दे रही है। जिससे खेत में ही अनाज जलकर राख हो जा रहा है।

Post a Comment

0 Comments