https://www.purvanchalrajya.com/

महामृत्युंजय जाप के साथ महादेव का रुद्राभिषेक

गौमाता राष्ट्रमाता घोषित हों व गोकशी बंद करने के लिए की गई कामना 


पूर्वांचल राज्य ब्यूरो, वाराणसी (मुकेश पाण्डेय)

वाराणसी। गौमाता को राष्ट्रमाता घोषित कराने व गोकशी बंद कराने हेतु गौमाता राष्ट्रमाता प्रतिष्ठा आंदोलन के अंतर्गत वृंदावन से दिल्ली तक नंगे पांव पन्द्रह दिवसीय पदयात्रा कर रहे परमाराध्य परमधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामिश्री अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज के पांव में बड़े बड़े छाले निकल कर लगातार चलने के कारण फुट कर उनके पांव में चिपक जा रहे हैं। फिर पांव में औषधि लेपन हो रहा फिर महाराजश्री अपने संकल्प पूर्ति हेतु पदयात्रा कर रहे व पुनः छाले निकल कर फुट रहे हैं।यह दृश्य देखकर कर भक्त समुदाय अत्यंत मर्माहत हैं।और आज अभी यात्रा का सातवां दिन है।अभी करीब 8 दिन की यात्रा बाकी है।शंकराचार्य जी महाराज का कठोर संकल्प पूर्ण हो भगवान उनको शक्ति प्रदान करें।इस मंगलकामना को लेकर आज काशी में सामनेघाट स्थित महामृत्युंजय मन्दिर में भक्तों ने शंकराचार्य जी महाराज के मीडिया प्रभारी सजंय पाण्डेय के नेतृत्व में महामृत्युंजय महादेव का रुद्राभिषेक किया व रंगभरी एकादशी होने के कारण बाबा को गुलाल अबीर भी चढ़ाया।वैदिक आचार्यों ने सविधि रुद्राभिषेक सम्पन्न करवाया साथ ही भक्तों ने मन्दिर परिसर में भजन कीर्तन भी किया।

इस दौरान मंदिर परिसर में आयोजित धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए शंकराचार्य जी महाराज के मीडिया प्रभारी सजंय पाण्डेय ने कहा कि सनातनधर्म के सर्वोच्च धर्मगुरु पूज्यपाद ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य जी महाराज सनातनधर्म की मूल गौमाता को राष्ट्रमाता घोषित कराने व गोकशी बंद कराने हेतु समस्त ऐश्वर्य,भूख,नींद,चैन त्यागकर कर दिन में एक बार मात्र अल्प भिक्षा ग्रहण कर नंगे पांव कठोर संकल्प लेकर पदयात्रा कर रहे हैं।मृत्युंजय महादेव से हम समस्त लोग उनके कठोर संकल्प को पूर्ण करने हेतु प्रार्थना करते हैं।

धर्मसभा की अध्यक्षता समाजसेवी सुजीत यादव व संचालन त्रिशूलधारी राकेश पाण्डेय ने किया। आगन्तुकों को धन्यवाद ज्ञापन खुशी नारायण उपाध्याय ने किया । समस्त आयोजन में प्रमुख रूप से आशीष गुप्ता,सदानंद तिवारी, आयुष पाण्डेय, यशश्वी पाण्डेय, विवेकसिंह, सजंय यादव, ओम प्रकाश पटेल, राजू भारती, उमाशंकर पटेल, प्रह्लाद कश्यप सहित भारी संख्या में भक्त उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments