https://www.purvanchalrajya.com/

ढोलक की थाप पर खूब उड़े अबीर गुलाल, लोग रंगों से सराबोर


नगरवासियों ने जमकर लगाया ठुमका, एक-दूसरे को दी शुभकामनाएं

पूर्वांचल राज्य ब्यूरो, सिद्धार्थनगर (नूरुल खाँ)

सिद्धार्थनगर/शोहरतगढ़़। होली का पर्व हिन्दू धर्म के प्रमुख उत्सव में एक है। हिन्दू धर्म इस सामाजिक समरसता के उत्सव के रूप में मनाता है। इस दिन लोग सारे गिले शिकवे भुलाकर एक-दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर गले मिलते हैं। इसलिए यह पर्व सबसे खास माना जाता है। उक्त बातें नगर पंचायत अध्यक्ष उमा अग्रवाल ने मंगलवार को होली मिलन शोभा यात्रा में कहीं। कस्बा शोहरतगढ़़ में आयोजित होली मिलन शोभा यात्रा कार्यक्रम में चैयरमेन प्रतिनिधि रवि अग्रवाल ने कहा कि यह पर्व उमंग व उत्साह का है। लोग बाकायदा अबीर गुलाल उड़ाते हुए डीजे के धुन पर थिरकते हैं, यही नहीं घर-घर जाकर गुझिया व गुलगुला खाकर आपसी सौहार्द को बढ़ावा देते हैं। लेकिन उमंग व उत्साह में भी अपनी मर्यादा को नहीं भूलना चाहिए। होली मिलन शोभा यात्रा श्रीराम जानकी मंदिर से सुबह 9.30 बजे से शुरू होकर गोलघर, हरी खेमका के घर, कन्हैया मिस्त्री के घर, मस्जिद, मुसाफिरखाना से होते हुए स्व0 राम पाल अग्रहरी के घर, बुधई स्मरक गली, इक्कावान चौराहा, नीबी दोहनी प्राईमरी स्कूल के रास्ते राम मिलन त्रिपाठी के घर होते हुए मेन रोड होते हुए प्रेम गली, सुरहिया, राजस्थान अतिथि भवन होते हुए श्रीराम जानकी मंदिर पर पहुंचकर समाप्त हुआ। इस दौरान रवि सिंह, मनीष श्रीवास्तव, अनूप कसौधन, अजय वर्मा, भीम चौधरी, राहुल पटेल, रंजीत चौधरी, पवन पटेल, सुमित चौधरी, शिवरतन कन्नौजिया, मोनू, भोला, शिव शंकर, सतीश कुमार, बब्लू गौड़, चन्दन वर्मा, सुनील अग्रहरि, सौरभ, शिव सरन, नीलू रुंगटा, सोनू बबूना, सुनील, सतीश मित्तल, मनोज वर्मा, शिव पूजन वर्मा सहित एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाते हुए जमकर ठुमका लगाया और एक-दूसरे को शुभकामनाएं दिया।


Post a Comment

0 Comments